Hindustan Saga Hindi
एजुकेशन

जीआईआईएस अहमदाबादने बाल दिवस उत्सव का आयोजन कर छात्रोंमे एक अनोखा आकर्षण पैदा किया

GIIS Ahmedabad creates unique attraction among students by organizing Children's Day celebration

अहमदाबाद (गुजरात): देशके प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरूके जन्म दिवस के उपलक्ष्यमें 14 नवंबर को पूरे देश में बाल दिवसके रूपमें मनाया जाता है। इस अवसर पर शहर के गोदरेज गार्डन सीटीमें ग्लोबल इंडियन इंटरनेशनल स्कूल (जीआईआईएस)ने बाल दिवस सेलिब्रेशन का आयोजन किया जिसमें मॉन्टेसरी से कक्षा 8 तक के प्रत्येक छात्रने कई मजेदार गतिविधियोंमें भाग लिया, जबकि शिक्षकोंने उनके लिए विशेष सत्र भी प्रस्तुत किए। कार्यक्रमकी शुरुआत भारत के हमारे पहले प्रधान मंत्री को दीप प्रज्वलित करने और पुष्पांजलि अर्पित करने के साथ हुई।

बाल दिवस को बहुत खास और यादगार बनाने के लिए, शिक्षकोंने छात्रोंको आकर्षित करने के लिए विभिन्न मजेदार  खेल जैसे की ऊंट गाड़ी की सवारी, खेल और कक्षा पार्टी जैसी कई मनोरंजक गतिविधियों का आयोजन किया। बाल दिवस समारोहमें हर कक्षाके बच्चों और शिक्षकोंने भाग लिया। शिक्षकों द्वारा बच्चोंके लिए एक विशेष सभाका आयोजन किया गया जिसमें छात्रोंको विशेष कार्य दिए गए। कक्षा 1 और 2के छात्र कार्टून और कॉमिक सुपरहीरो के वेशमें आए, जबकि कक्षा 3 से 5 के छात्र अपने रोल मॉडल, परिवार के सदस्यों, इंटरनेट हस्तियों, ऐतिहासिक शख्सियतों, एथलीटों और यहां तक कि अपनी पसंद की मशहूर हस्तियोंके रूप में तैयार हुए और प्रत्येक छात्रने इसके बारे में संक्षिप्त जानकारी भी दी। रोल मॉडल और अन्य छात्र केज्युअल वेयरमें आए।

ग्लोबल इंडियन इंटरनेशनल स्कूल (जीआईआईएस), अहमदाबाद के प्रिंसिपल सीजर डी सिल्वाने कहा, “जीआईआईएस अहमदाबाद में हम अपने छात्रोंकी वृद्धि और विकास के लिए एक समग्र और पोषणपूर्ण वातावरण प्रदान करनेमें विश्वास करते हैं। इस बाल दिवस हम उन्हें विशेष महसूस कराना चाहते थे क्योंकि ये उनके जीवनके सबसे महत्वपूर्ण वर्ष हैं। उन्हें एक सुरक्षित और गैर-न्यायिक स्थानमें खुद को अभिव्यक्त करने का अवसर देना उनके मनोबल को बढ़ाने और उन्हें अपनी बचपने की प्रकृतिको किसी भी तरह से अपनाने की अनुमति देने के लिए महत्वपूर्ण है। जीआईआईएस अहमदाबाद में मनाया जाने वाला यह बाल दिवस वास्तव में इस बात की गवाही देता है कि बच्चे, बच्चे होने के नाते, अपने वास्तविक स्वरूपको सबसे रचनात्मक तरीकेसे व्यक्त कर सकते हैं। और इसलिए हम उनका बचपनपन  लेकिन रचनात्मक और कल्पनाशील दिमागों को इस तरह उजागर होते देख खुश हैं।

अधिक जानकारी के लिये कृपया यहां क्लिक करे : ग्लोबल इंडियन इंटरनेशनल स्कूल (जीआईआईएस, अहमदाबाद)

यह भी देखें...

टीया तेवानी ने 12वी में 95.4% अंक प्राप्त कर स्कूल- समाज का गौरव बढ़ाया

आरएफएल अकादमी की कोडेवर 5.0 नेशनल चैंपियनशिप में बड़ी जीत, दुबई के लिए तैयारी

Hindustan Saga Hindi

सच्चाई की हुई जीत: O.P.J.S. विश्वविद्यालय के चार वर्षों के संघर्ष के बाद D.P.Ed. छात्रों को मिली खुशखबरी

Hindustan Saga Hindi

Leave a Comment